ज्वेलरी की दुकान से लूट:दिनदहाड़े सराफ को बंधक बनाया, ले गए लाखों का माल; इस वारदात ने खोली सुरक्षा की पोल – Robbery Before Diwali In Which Saraf Was Held Hostage Exposed The Security Claim

ज्वेलरी की दुकान से लूट:दिनदहाड़े सराफ को बंधक बनाया, ले गए लाखों का माल; इस वारदात ने खोली सुरक्षा की पोल – Robbery Before Diwali In Which Saraf Was Held Hostage Exposed The Security Claim

[ad_1]

robbery before Diwali in which Saraf was held hostage exposed the security claim

सराफ को बंधक बनाकर लूट
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


आगरा शहर के बीचोबीच कारगिल-करकुंज मार्ग पर बाइक सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े दुकान में सराफ को बंधक बनाकर लूट की। वह बाइक पर आसानी से भाग भी निकले। वारदात ने त्योहारी सीजन में पुलिस सुरक्षा के दावे की पोल भी खोलकर रख दी।

शहर में कारगिल-करकुंज मार्ग पर कई माल, दुकान से लेकर रेस्टोरेंट हैं। बड़ी संख्या में लोग खरीदारी करने आते हैं। चौराहे पर सुरक्षा के नाम पर कुछ नहीं रहता है। लूट की वारदात के बाद पुलिसकर्मी आसपास की दुकानों में सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखते नजर आए। पुलिस यह पता करती रही कि बदमाश कहां से आए थे? और किसी तरफ भागकर गए हैं? हालांकि उसे ज्यादा जानकारी नहीं लग सकी। सड़कों पर पुलिस की चेकिंग होती तो बदमाशों को पकड़ा भी जा सकता था। दिवाली से पहले शाहगंज, हास्पिटल रोड, सिंधी बाजार, रावत पाड़ा, एमजी रोड, सदर बाजार, राजपुर चुंगी, टेढ़ी बगिया, लोहामंडी आदि बाजार में भीड़ रहती है। पुलिस चौराहे पर तैनात रहती है। मगर, बाजार में गश्त न होने से बदमाश वारदात करने में सफल हो जाते हैं। कई बार गश्त के नाम पर रस्म अदायगी ही रह जाती है।

पहले भी कई बार निशाना बने सराफ

शहर में सराफ पहले भी बदमाशों का निशाना बन चुके हैं। एक साल पहले लोहामंडी बाजार में दिनदहाड़े बदमाशों ने फायरिंग करके सराफ की दुकान में लूट की थी। लोगों के घेरने पर गोली चलाई थी। बाद में पुलिस ने घटना का खुलासा किया था। इसके अलावा बोदला बाजार और आवास विकास कालोनी में सराफ से लूट हो चुकी है। रिंग रोड पर सराफा बाजार के सराफ को लूटा गया था।

सिर्फ कैमरे लगाने से कुछ नहीं होगा, सुरक्षा भी हो

शाहगंज सराफा कमेटी के अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने बताया कि ‘पुलिस बाजार में कैमरे लगवाती है। इसके लिए व्यापारियों से कहा जाता है। मगर, कैमरे से ही बदमाश नहीं रुकने वाले। सुरक्षा के लिए पुलिस भी तैनात होनी चाहिए।’

पुलिस की सतर्कता न होने से दोबारा होती है वारदात

व्यापारी सुनील कर्मचंदानी ने बताया कि बदमाश वारदात करके निकल जाते हैं। पुलिस बाद में पहुंचती है। वारदात का खुलासा किया जाता है। पुलिस की सतर्कता नहीं होने की वजह से बदमाश दोबारा वारदात करते हैं।

[ad_2]

Source link

anuragtimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *