वृंदावन:शरद पूर्णिमा पर श्वेत वस्त्रों में बांसुरी धारण कर बांके बिहारी ने भक्तों को दिए दर्शन, उमड़ा जनसैलाब – Banke Bihari Appeared To Devotees Wearing White Clothes And Carrying Flute On Sharad Purnima In Vrindavan

वृंदावन:शरद पूर्णिमा पर श्वेत वस्त्रों में बांसुरी धारण कर बांके बिहारी ने भक्तों को दिए दर्शन, उमड़ा जनसैलाब – Banke Bihari Appeared To Devotees Wearing White Clothes And Carrying Flute On Sharad Purnima In Vrindavan

[ad_1]

Banke Bihari appeared to devotees wearing white clothes and carrying flute On Sharad Purnima in Vrindavan

विद्यापीठ चौराहा पर भीड के बीच बांकेबिहारी मंदिर की ओर जाने के लिए मशक्कत करते श्रद्धालु।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


तीर्थनगरी मथुरा के वृंदावन स्थित ठाकुर श्री बांके बिहारी मंदिर में शरद पूर्णिमा पर शनिवार को आराध्य के श्वेत वस्त्र में भक्तों को दर्शन हुए। महारास के कटि काछनी वस्त्र, सिर पर मोर मुकुट और होठों पर मुरली धारण कर बांकेबिहारी महाराज के भक्तों को मनोहारी दर्शन हुए। वर्ष में एक बार इन विशेष दर्शनों की एक झलक पाने को भक्तों का उमड़ पड़े।

ठॉ. बांकेबिहारी मंदिर में आराध्यदेव प्रभु बांकेबिहारी की विशेष पूजा-अर्चना की। प्रभु दर्शन के लिए पट खुलते ही देश-विदेशों से आए भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। मंदिर में शरद पूर्णिमा की अद्भुत छटा भक्तों को दर्शन के दौरान देखने को मिली। 

यह भी पढ़ेंः- UP: बीच सड़क भाजपा नेता के भतीजे को मारी गोली, फिल्मी स्टाइल में बाइक से आए; दोनों हाथ में तमंचा लहराते फरार

प्रभु ने भक्तों को शरद पूर्णिमा के दिन विशेष पोशाक कमर पर बंधी कटि काछनी में दर्शन दिए। रात में सूर्यग्रहण के कारण शाम से ही सूतक होने पर दोपहर साढ़े तीन बजे तक ही ठाकुरजी की शयन आरती हुई और पट बंद हो गए।

यह भी पढ़ेंः- UP: ट्रैक्टर से टकराकर सड़क पर गिरे बाइक सवार, पीछे से आए ट्रक ने कुचल दिया; एक की मौत जबकि दूसरा घायल

मंदिर के सह प्रबंधक उमेश सारस्वत व सेवाधिकारी रजत गोस्वामी ने बताया कि शरद पूर्णिमा के दिन ठाकुरजी महारास के दर्शन भक्तों को देते हैं। उनको चंद्र कला और मेवाओं की खीर का भोग सेवित किया गया।

[ad_2]

Source link

anuragtimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *