‘स्माइल पिंकी’ के चेहरे पर लौटी मुस्कान:अब नहीं खाली कराया जाएगा घर, एक नोटिस ने बढ़ाई थी हलचल – Happines Returned On Face Of Smile Pinky Now Her House Will Not Be Vacated Notice Had Increased The Stir

‘स्माइल पिंकी’ के चेहरे पर लौटी मुस्कान:अब नहीं खाली कराया जाएगा घर, एक नोटिस ने बढ़ाई थी हलचल – Happines Returned On Face Of Smile Pinky Now Her House Will Not Be Vacated Notice Had Increased The Stir

[ad_1]

सार

ऑस्कर अवार्ड विनर फिल्म “स्माइल पिंकी” की प्रमुख किरदार पिंकी यूपी के मिर्जापुर जिले के रामपुर ढबही गांव की रहने वाली हैं। उनके परिवार को वन विभाग ने घर खाली करने का नोटिस भेजा था। 

Happines returned on face of Smile Pinky Now her house will not be vacated notice had increased the stir

स्माइल पिंकी से मिलने पहुंचे तहसीलदार चुनार
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


ऑस्कर अवार्ड प्राप्त कर विश्व पटल पर छाने वाली यूपी के मिर्जापुर की “स्माइल पिंकी”  के चेहरे पर शुक्रवार को एक बार फिर वही मुस्कान देखने को मिली, जो ऑस्कर जीतने वाली डाक्यूमेंट्री फिल्म में दिखी थी। रामपुर ढबहीं के छोटी खोरिया पहुंचे तहसीलदार ने पिंकी और उसके परिवार को आश्वस्त किया कि घर खाली नहीं कराया जाएगा।

ऑस्कर के बाद चर्चा में आई पिंकी के मामले का संज्ञान जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने लिया है। इसी कारण जिला प्रशासन की ओर से राहत मिल गई और वन विभाग को बैकफुट पर जाना पड़ा। रामपुर ढबही के छोटी खोरिया पहुंचे तहसीलदार चुनार शक्ति प्रताप सिंह ने पिंकी से कहा कि अब आपका घर कोई खाली नहीं कराएगा। इतना सुनते ही पिंकी मुस्कुरा उठी। 

नोटिस को किया गया स्थगित

सवाल अब भी है कि उस आवासीय भूमि पर ढाई दशकों से तीन पीढ़ी गुजारने वाला पिंकी का परिवार तथा 28 घरों का कुनबा कब तक सुरक्षित रह सकेगा। तहसीलदार चुनार शक्ति प्रताप सिंह ने कहा कि वन विभाग की भूमि पर अतिक्रमण करके घर बनवाने का मामला प्रकाश में आया है। इस पर रिपोर्ट मंगाई गई है। बेदखली की कार्रवाई के लिए दिए गए नोटिस को स्थगित कर दिया गया है। पिता राजेंद्र सोनकर तथा पिंकी को आश्वासन दिया गया है कि घर कोई खाली नहीं कराएगा। 

ये भी पढ़ें: ऑस्कर फेम स्माइल पिंकी परेशान: प्रशासन ने आवास देकर बसाया, अब जंगल की भूमि बता उजाड़ने की तैयारी

[ad_2]

Source link

anuragtimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *