Agra :मोहल्ले में रुतबा कम हुआ तो कर डाली हत्या, कूड़े के ढेर पर फेंकी लाश; ऐसे खुला लखन हत्याकांड का राज – Lakhan Murder Case Due To Status In Locality Body Thrown On Garbage Heap

Agra :मोहल्ले में रुतबा कम हुआ तो कर डाली हत्या, कूड़े के ढेर पर फेंकी लाश; ऐसे खुला लखन हत्याकांड का राज – Lakhan Murder Case Due To Status In Locality Body Thrown On Garbage Heap

[ad_1]

Lakhan murder case Due to status in locality body thrown on garbage heap

arrested demo
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


आगरा की ट्रांस यमुना पुलिस ने बृहस्पतिवार को लखन हत्याकांड का खुलासा किया। तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एक आरोपी गुड्डा पूर्व में हत्या के मामले में जेल गया था। जेल से छूटने पर फिर से अपना रुतबा दिखाने लगा। लखन आड़े आ रहा था। इससे मोहल्ले में उसका रुतबा कम हो रहा था। घटना से 4 दिन पहले लखन ने उसे धमकी भी दी थी। इस पर गुड्डा ने लखन को रास्ते से हटाने की ठान ली। अपने साथियों के साथ हत्याकांड को अंजाम दिया। सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई।

10 अक्तूबर को शाहदरा स्थित कूड़े के ढेर में शव मिला था। मृतक की पहचान नगला किशनलाल निवासी लखन के रूप में हुई। परिजन ने बताया कि लखन 7 अक्तूबर को काम से जाने की कहकर घर से निकला था, इसके बाद लौटकर नहीं आया। जांच में जुटी पुलिस ने घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे चेक किए जिसमें एक डीसीएम नजर आई। पुलिस इसकी पहचान में जुट गई। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि बृहस्पतिवार को आदर्श नगर, टेढ़ी बगिया निवासी गुडडू उर्फ गुड्डा उर्फ मोतीलाल, हाथरस के गांव खुटीपुरी निवासी शिवम और नाला बुढ़ान सैय्यद निवासी कालिया उर्फ कपिल को गिरफ्तार कर लिया। उनसे 2 तमंचे, 2 सरिया, एक डीसीएम बरामद की।

पहले भी हत्या में गया था जेल

थानाध्यक्ष सुमनेश विकल ने बताया कि आरोपी शिवम डीसीएम चालक है, जबकि गुड्डा मजदूरी करता है। कलुआ ई-रिक्शा चलाता है। गुड्डा का घर मृतक लखन के घर के पास ही है। दोनों एक-दूसरे को बचपन से जानते थे। गुड्डा वर्ष 2013 में हत्या के मामले में जेल गया था। उसने हत्या कर शव नाले में फेंका था। जेल से छूटकर आया था। लखन की मोहल्ले में अच्छी चलती थी। वह दबंगई दिखाता था। गुड्डा को लग रहा था कि उसका रुतबा कम हो रहा है।

4 दिन पहले दी थी धमकी

पुलिस ने बताया कि घटना से 4 दिन पहले मृतक लखन ने गुड्डा को धमकी दी थी। इस पर उसने लखन को रास्ते से हटाने की साजिश रची। गुड्डा ने अपने साथियों के साथ मिलकर लखन को बहाने से साथ ले गया। शराब पीने के बाद डीसीएम में बैठाकर ले गए। लखन से कहा कि शाहदरा के पास काफी लोहा पड़ा है। उसे बेचकर पैसा मिल जाएगा। इस पर वो तैयार हो गया। उसे वहां ले जाकर सिर में सरिया से प्रहार करके हत्या कर दी। शव कूड़े फेंककर भाग गए। मगर, सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में डीसीएम आ गई। पुलिस ने इसकी पहचान कर हत्याकांड का खुलासा किया।

[ad_2]

Source link

anuragtimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *