Aligarh:विस्फोट में प्रयोग होने वाले डेटोनेटर की नौ कैंडिल्स फेंक गए दो बाइक सवार, पुलिस जांच में जुटी – Two Bike Riders Threw Nine Candles Of The Detonator Used In The Blast

Aligarh:विस्फोट में प्रयोग होने वाले डेटोनेटर की नौ कैंडिल्स फेंक गए दो बाइक सवार, पुलिस जांच में जुटी – Two Bike Riders Threw Nine Candles Of The Detonator Used In The Blast

[ad_1]

Two bike riders threw nine candles of the detonator used in the blast

घास में पड़ीं मिलीं डेटोनेटर की नौ कैंडिल्स
– फोटो : संवाद

विस्तार


खनन के लिए उपयोग किए जाने वाले विस्फोट में प्रयोग होने वाले डेटोनेटर की नौ कैंडिल्स मंगलवार शाम अलीगढ़ के लोधा थाना क्षेत्र में खैर रोड पर सड़क सहारे पाई गईं। इन्हें बाइक सवार दो युवक फेंककर गए। इस खबर पर इलाका पुलिस के पसीने छूट गए। एसपी सिटी भी बम निरोधक दस्ते के साथ मौके पर पहुंच गए। एक घंटे की जांच में यह साफ हुआ कि बिना डेटोनेटर के ये घातक नहीं हैं। तब राहत महसूस की गई। अब इनके यहां तक पहुंचने के कारणों और फेंकने वाले तक पहुंचने में पुलिस जुटी है।

पुलिस जांच करती हुई

हुआ यूं कि मंगलवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना मिली कि बाइक सवार दो युवक मथुरा की ओर से हाईवे के सहारे खैर रोड पर मुड़े हैं। उनके हाथ में बाइक पर एक बैग है। जिसमें कुछ संदिग्ध पदार्थ है। इनका एक बाइक सवार पीछा भी कर रहा है। इस सूचना पर लोधा पुलिस, लैपर्ड व पीआरवी ने घेराबंदी की तो बाइक सवार दोनों युवक खेरेश्वर मंदिर से चंद कदम आगे स्वर्ण भूमि गेस्ट हाउस के सामने बैग सडक़ सहारे घास में फेंककर भाग गए। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने बैग खोलकर देखा तो उसमें विस्फोट में प्रयोग होने वाली नौ छड़ें बरामद हुईं। 

इस सूचना पर एसपी सिटी मृगांक शेखर पाठक मय बम निरोधक दस्ते के मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जांच करते हुए पाया कि यह टनल, माइंस आदि में खनन के दौरान किए जाने वाले विस्फोट में डेटोनेटर में प्रयोग होने वाली कैंडिल्स व उनसे लिपटा कुछ तार का टुकड़ा है। उनकी कंपनी आदि के विषय में भी जानकारी जुटाई गई। आसपास काफी देर तक क्षेत्र में तलाशी कराई गई। मगर अन्य कोई इससे जुड़ा सामान नहीं मिला। एक घंटे की जांच पड़ताल के बाद तस्वीर साफ होने पर पुलिस ने राहत महसूस की। इधर, पुलिस अब उस कॉलर के जरिये उन युवकों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है, जो यहां इन्हें फेंककर गए हैं। उसके बाद ही तस्वीर साफ होगी कि इन्हें कहां से, क्यों लाया गया और कहां ले जा रहे थे। 

[ad_2]

Source link

anuragtimes.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *